livedosti.com

सासु माँ की चूत सेवा

इसी दौरान, मैने झुके-झुके अपनी सास की नशीली टाँगों के दर्शन किए.

फिर वो बेडरूम के दरवाज़े से मुड कर मेरी तरफ मुस्कुराती हुई देख कर बोलीं, “सब कुछ ठीक है ना. अगर कुछ चाहिये तो बिना झिझक ले लेना.”

मैने कहा, “हाँ.. हाँ.. कोई दिक्कत नहीं मैं ले लूँगा, अगर कुछ चाहिए होगा तो.” और फिर वो अंदर चली गयी.

वैसे तो मैने अपनी सास के बारे में बहुत बार फॅंटसाइज़ किया था.

लेकिन सच में, वो इतनी मस्त होगी, कभी सपने भी नहीं सोचा था.

बस, अब तो उनके शरीर को भोगने की एक तमन्ना दिल में बंध सी गई.

मैगज़ीन तो मेने हाथ में पकड़ी थी, लेकिन मेरी आँखों पर मेरी सास के मस्त शरीर का नशा छाया हुआ था..

कुछ देर बाद में उठ कर उनके बेडरूम की तरफ बड़ा.

Saas ki Chudai > मामी के साथ अनोखी दास्तान

और अंदर देखा की मेरी सास ने बाथरूम का दरवाज़ा ठीक तरह बंद नहीं किया था.

कुछ हिम्मत कर में बाथरूम की तरफ बड़ा.

दरवाज़ा ठीक से बंद ना होने के कारण, एक छोटे से दरार से बाथरूम का कुछ हिस्सा दिख रहा था.

अंदर शावर की आवाज़ आ रही थी.

मैने थोड़ा सा दरवाज़े को अंदर की तरफ ढकेला, तो मुझे शीशे में जो नज़ारा दिखा, उसे देख मेरा लंड तो जैसे पेंट को फाड़ बाहर निकलने को तेयार हो गया.

मेरी सास, टॉयलेट सीट पर बैठ, एक हाथ से अपने चूत में एक लंबा सा बेंगन घुसा रहीं थी और दूसरे हाथ से अपना एक निप्पल पकड़ उसे मसल रहीं थी.

अब तो मुझसे और रहा ना गया, और मैने अपने सारे कपड़े उतार लिये और सीधा बाथरूम का दरवाज़ा खोल अंदर घुस गया.

मुझे नंगा देख मेरी सास को कोई शोक होने की जगह मुस्कुराने लगीं.

Saas ki Chudai > जेठ का काला लम्बा लंड

अब मुझे यकीन हो गया, मेरी सास तो यही चाह रही थी.

एकदम नंगी थी मेरी सास और में भी एकदम नंगा था.

मैने सीधा अपना लंड पकड़ा और उनके सामने हिलानें लगा.

वो बोली, “ऊई माँ.. सुना था.. पर इतना बड़ा और कड़क होगा मुझे तो बिल्कुल ऐकिन नहीं हो रहा.. है राम.. आज मेरी बरसों की तम्मना पूरी हो गयी.. बड़ी प्यासी है.. बेटा यह चूत.. तेरे लॅंड ने एक आस सी जगा दी.. पर आज तो मुझे यकीन हो गया की ऐसे लंड की तो कोई भी एक चूत भूक नहीं मिटा सकती.. लगता है में कुछ ज्यदा ही बोल गयी हूँ.. है ना बेटा.. प्लीज़ आज मेरी बरोसों की भूख मिटा दो दामाद ज़ी..”

मैने जवाब दिया, “सासू माँ.. जब से शादी हुयी है.. में तो आपके शरीर को खूब निहारा करता हूँ.. कोई नहीं कह सकता की आप मेरी बीवी की माँ हैं.. आप का तो हर अंग बोलता हुआ नज़र आता है.. ऐसा लगता है की जवानी ने आपका साथ अब तक नहीं छोडा.. बल्की भगवान ने तो समय के साथ साथ आपको और भी माल बना दिया है.. मेरे तो दोस्त भी आपको देख अपनी लार टपकाते हैं.”

Saas ki Chudai > मेरी गाण्ड और शीमेल का लण्ड

वो बोली, “हाँ.. बेटा तेरे ससुर तो पहले से ही कमज़ोर थे.. और जब उनका ऐक्सिडेंट हुआ में तो सिर्फ़ 25 वर्ष की थी.. तब से अब तक कोई मर्द ने नहीं चोदा है मुझे.. मेरा तो एक बेटा है वो दुबला पतला और सबसे छोटा भी है…. अब मुझे दामाद के रूप मे बेटा मिल गया.. वो भी इतने लम्बे और मोटे लंड वाला..

में बोल पड़ा, “लो.. ना.. इसे पकड़ लो सासू जी, अब कभी आपको इस बेंगन या खीरे की ज़रूरत नहीं पड़ने दूँगा.. आपने पहले कभी कहा होता.. तो भी में पीछे नहीं हटता.. में तो शादी के बाद से ही आपके शरीर का दीवाना था.. आप जब भी मेरे सामने होती थी.. मेरा तो आपको भरपूर चोदने का मन करता था.. आप चीज़ ही ऐसी हैं.”

फिर मेरी सास ने आव देखा ना ताव.. सीधा मेरा लंड पकड़ लिया.. और उसे सहलाते हुई बोल पड़ी, “सच में बड़ा भारी है यार तेरा लंड.. बड़ी खुश किस्मत है मेरी बेटी.. की उसे ऐसा लंड मिला.. और तेरी सासू मा भी..”

मैने अपनी सासू माँ के गीलें बालों में अपना हाथ डाला और उनके गेर्दन पर उनके कानों के नीचे अपने अंगूठों से सहलाते हुऐ ज़ोर से अपने तरफ खींच कर अपना होंठ उनके होठों पर रख अपनी जीभ उनके मूँह में डाल पागलों की तरह चूमने लगा.

Saas ki Chudai > देसी आंटी की उसके घर चुदाई

शायद मेरे ससुर ने मेरी सास को कभी ठीक से चूमा भी नहीं.

मेरी सास भी अपनी जीभ मेरे मूँह में डाल मेरी जीभ को अपनी जीभ से रगड़ने लगी. एकदम गर्म होने लगी हमारी सासें.

फिर अपनी जीभ को बाहर निकाल उनसे भी वही किया.

एकदम पिंक थी मेरी सास की जीभ.

मैने अपनी सास की जीभ को चारों तरफ से खूब चाटा…

वो बोल पड़ी, “यह सब तूने कहाँ से सीखा.”

मैने कहा, “मज़ा आ रहा है ना सासू माँ. सब ब्लू फिल्मों का असर हे.”

फिर मैने अपनी सास की गर्दन को अपनी जीभ से चूमते हुये, उनके बोब्स पर ले गया, जोकि एकदम चट्टान की तरह सखत थे और एक बोब को एक हाथ में पकड़ दूसरे को चूसने लगा.

Saas ki Chudai > इंटरनेट वाली भाभी

वो ज़ोर से बोल पड़ी, “इन्हें तो तेरे ससुर ने कभी मज़ा ही नहीं दिया. आज इन्हें चूस–चूस के हताश कर दे.”

मैने कहा, “तभी तो मेरी किस्मत मे इतने ठोस बोब्स हाथ लगे हैं. मेरी तो किस्मत ही अच्छी है, मुझे तो कुँवारी सास मिल गयीं. अब तो खूब मज़ा आ जाएगा. सच कहूँ सासू माँ जो नशा आपके इस जिस्म मे है, वो अभी आपकी बेटी में नहीं छाया. शायाद, इसलिये की आपने इसे काफ़ी बरसों से जमा किया है.”

मेरी सास, “बस अब जल्दी कर बेटा.. अपना यह भारी भरकम लंड मेरी चूत में घुसा दे. बड़े सालो से लंड की प्यासी है तेरी सासू माँ की चूत. फाड़ दे ना इसको आज.”

मैने अपना लंड लिया और अपनी सास की चूत के मुंह पर लगा दिया.

कुछ देर उसे वहीं पर रगड़ा तो सासू माँ से रहा नही गया और उन्होने मेरे लंड को दबोच अपनी चूत में घुसाने की चेष्टा की.

बड़ी मस्त थी.

मेरी सासू माँ की चूत. desi chut

फिर मैने अपनी दो उंगलियाँ नीचे ले जा सासू माँ की चूत को फैलाया, और अपने लंड को पहले 2 इंच अंदर धकेला, तो उनकी सिसकारी निकल पड़ी.

Saas ki Chudai > रिसेप्शन वाली आंटी को चोदा

उनके मूँह से निकल पड़ा, “ऊई.. माँ.. मेरी.. हाय..हाय.. आई.. यह तो सच में फाड़ देगा. बड़ी बड़ी चूतों को भी..”

मेरे मूँह से भी निकल पड़ा, “आप की चूत भी तो बड़ी टाइट है.. सासू माँ.. कभी चूदी नहीं ना.. आज इसे खोल देगा आपका यह दामाद बेटा..”

फिर मैने बातों ही बातों में एक ज़ोर से धक्का लगाया, अपना आधा लंड अपनी प्यारी सासू माँ की चूत में घुसा दिया.

मेरी सासू माँ ने “इसस्सश..” करते हुवे मुझे काट लिया.

और फिर मेरी उत्तेजना और बड गयी..

और मेरी सासू माँ ज़ोर से चीख मेरी कमर मे अपनी उंगलियाँ घुसा दी.. “है.. दया.. आआअहह.. मर गयी राम.. ऊई माँ.. काश 20 साल पहले ऐसा लंड मिला होता.. में आज इतना ना तड़पती.”

और कुछ ही देर में मेरी सासू मा मेरे लंड की दीवानी होकर उस पर अपनी गरम और कसी चूत को से इतराने लगी..

Saas ki Chudai > मस्त रंडी की चुत चुदाई

उसने मुझे ज़ोर ज़ोर से काटा.. चूमा.. जो मेरी सासू माँ के जी मे आया उन्होंने मेरे शरीर के साथ किया..

और मुझे भी मज़ा आ रहा और साथ ही साथ अपने लंड पर नाज़ हो रहा था..

की मेरी सासू माँ की बरसों की प्यास बुझ रही थी..

और फिर उस दिन मेरी सासू माँ ने मुझसे 4 बार चुदवाया और बाद मे खूब स्वादिष्ट खाना खिलाया.

एक बार तो मैने उन्हें वहीं किचन में डाइनिंग टेबल पर लिटा कर भी चोद दिया खाना बनाते बनाते.

उस दिन के बाद तो मैने और सासू माँ ने ब्लू फिल्में देखते हुये काफ़ी अलग अलग तरीके अपनाए.

बड़ी ही भूखी थी वो.

अब मुझे मालूम चल गया की एक भूखी औरत एकदम भूखी शेरनी की तरह होती है, जिसे चोदने में सबसे ज़्यादा मज़ा आता है.

हाँ तो दोस्तो उसके बाद मैं अपनी सासू माँ को अक्सर चोदने चला जाता हूँ.