livedosti.com

पति को धोखा नहीं दे सकती

मैं बहुत समय से अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट ऑर्ग का पाठक रहा हूँ। मैं इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा हूँ। मेरी उम्र 21 साल है, लम्बाई 6 फीट है। मेरा हथियार 6.5 इंच का है। मैं यह पहली कहानी (pyasi biwi) लिख रहा हूँ। यह घटना बिलकुल सच है, घटना पिछले महीने की है।

मेरे घर के पड़ोस में सामने ही एक परिवार रहता है, वो लोग मेरे घर के पड़ोस में किराये से रहते थे।

वो आदमी बजाज में काम करता था और उसकी अभी कुछ महीने पहले ही शादी हुई थी।

Pyasi Biwi ki Chudai > हॉट लड़की ने घर बुला कर चुदवाया

पर वो रात को 11-12 बजे शराब पीकर आता था।

antarvasnasexstories.org par pyasi biwi ki chudai xxx kahaniउसकी औरत घर में ही रहती थी। वो दिखने में एकदम माल दिखती थी।

उसकी उम्र तकरीबन 24 साल है। उसकी फिगर 34-26-36 थी।

वो मुझे पहले दिन से ही पसंद थी पर मैं उस से बात नहीं कर पा रहा था क्योंकि मेरे घर में अक्सर कोई न कोई रहता है।

पिछले महीने जब मेरे इम्तिहान खत्म हुए तो मैं अपने दोस्तों के साथ पार्टी करने होटल गया था।

मैंने उस दिन थोड़ी शराब पी थी।

रात 8 बजे पार्टी से घर आते हुए उसने मुझे देख लिया था।

उस दिन मेरे घर में कोई नहीं था।

आप ये मस्त सेक्स कहानी अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट ऑर्ग पर पढ़ रहे है.. इसलिए मुझे भी कोई टेंशन नहीं थी।

मैं घर गया और लैपटॉप पर ब्लू फिल्म देखने लगा।

Pyasi Biwi ki Chudai > रुकसाना हिजड़ा का गधे जैसा लंड

मेरा लंड खड़ा हो गया था, मैं मुठ मार रहा था।

उसी समय दरवाजे पर दस्तक हुई। मैं एकदम से डर गया कि इस समय कौन आ गया क्योंकि मैंने शराब पी हुई थी।

मैंने दरवाजा खोला।

सामने वही बाजू वाली नवविवाहिता लड़की थी, मुझसे बोली- मेरे घर का गैस सिलेण्डर खत्म हो गया है और मैं दूसरा सिलेण्डर लगाने में डर रही हूँ.. क्या आप मुझे वो सिलेण्डर लगाने में मदद करेंगे?

मैंने उसे हाँ कर दी। आप ये मस्त सेक्स कहानी अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट ऑर्ग पर पढ़ रहे है..

मैं उसके साथ चल दिया।

उसने उस वक़्त हल्के से कपड़े पहने थे।

जब वो चल रही थी तो मैं पीछे से उसकी मस्त कमर को हिलते हुए देख रहा था।

उसे देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया।

मैंने अपने आप पर कण्ट्रोल किया। मैं पहली बार उसके घर गया था। उसके घर में तीन कमरे थे।

Pyasi Biwi ki Chudai > टूर पे अम्मी की चुदाई

पहला कमरा एक हॉलनुमा था। दूसरा कमरा रसोई घर था। आप ये मस्त सेक्स कहानी अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट ऑर्ग पर पढ़ रहे है.. तीसरा कमरा शयन कक्ष था।

मैंने उससे पूछा- सिलेण्डर कहाँ है?

वो बोली- हॉल में है।

वो सिलेण्डर लेने चली गई। मैं भी उसके पीछे-पीछे दूसरे रूम में गया।

सिलेण्डर का वजन अधिक होता है सो मैंने खुद ही सिलेण्डर को उठा कर लाने की सोची।

सिलेण्डर लगाते समय मेरा लंड उसकी पिछाड़ी में जोर से टकराया।

वो एकदम से डर कर खड़ी हो गई।

मैंने उसे सॉरी बोला और सिलेण्डर लगाने लगा। वो बिल्कुल मेरे पीछे खड़ी थी। मुझे बहुत मजा आया।

मैंने जैसे तैसे सिलेण्डर लगाया और जाने लगा।

वो बोली- चाय पीकर जाइएगा।

मैंने मना कर दिया।

वो बोली- क्यों, आपका नशा कम हो जायेगा क्या?

मैं डर गया और बोला- क्यों? कैसे?

Pyasi Biwi ki Chudai > मस्त रंडी की चुत चुदाई

वो बोली- इतना नादान ना समझ ! मैं भी तेरी उम्र के दौर से गुजरी हूँ और मालूम है कि इस उम्र के लड़के क्या-क्या करते हैं।

वो हँसने लगी, बोली- तूने ड्रिंक किया न?

मैंने भी बोल दिया- आज ही इम्तिहान खत्म हुए थे तो दोस्तों ने पिला दी।

वो कुछ नहीं बोली और मैं घर आ गया। उसके नाम की मुठ मार कर सो गया। मैं सुबह लेट उठा।

आप ये मस्त सेक्स कहानी अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट ऑर्ग पर पढ़ रहे है..  मैं मुँह धो रहा था।