livedosti.com cam chat

आज पूजा चुदने के मूड में है

मेरा नाम महेश है, दिल्ली में रहता हूँ, उम्र अभी 22 साल है। मैं 5’8” का हूँ। मैं आज आप लोगों को अपनी पहली कहानी सुनाता हूँ। यह मेरी सच्ची कहानी है, मैं कहानी पहली बार लिख रहा हूँ इसलिए हो सकता है कि कुछ गलती भी हो जाए और कोई चीज छूट भी जाए तो उसके लिए मैं आप सबसे पहले ही क्षमा मांगता हूँ… indiansex stories

मेरे लंड का साइज़ 7″ के करीब है और मोटाई 2″ है।

antarvasnasexstories.org par indiansex stories jaise mast antarvasna sex kahaniमैं अभी आजकल कॉल-सेंटर जॉब कर रहा हूँ।

Indiansex stories > सेक्स की भूखी आंटी की रसीली चुत

उसका नाम पूजा है जो मेरे कमरे के बगल में किराए से रहती थी।

उसकी लम्बाई भी मेरे जितनी ही है।

वो ज्यादा गोरी तो नहीं थोड़ी सांवली है, लेकिन वो दिखती मस्त है, उसके मम्मों की साइज़ 30” है और शरीर से बहुत मादक लगती है।

उसकी गाण्ड भी बहुत मस्त है, दिल करता है कि उसे सहलाता ही रहूँ और हमेशा उसकी गाण्ड (moti gand) में अपना लंड डाले रहूँ।

जब पहली बार मैंने उसे देखा तो उसी वक्त उससे मुझे प्यार हो गया और उसे भी मुझसे प्यार हो गया था।

एक ही उम्र होने के कारण वो हमेशा मुझे नाम से बुलाती थी। मे

रे हंसमुख स्वभाव वह मुझसे खुल गई थी और हम सब हर एक बात साझा करने लगे थे।

Indiansex stories > भाभी की चुदाई गोवा में – भाग २

बात आज से 6-7 महीने पहले की है, एक दिन मकान-मालिक की बहन की शादी थी तो मैंने और पूजा ने बियर का इन्तज़ाम किया था।

जब सब लोग सोने जा रहे थे तो वो मुझसे बोली- चलो सोने चलते हैं, आज तुम मेरे ही कमरे पर सो जाओ।

मैंने सोचा कि इससे अच्छा मौका नहीं मिलेगा, तो मैं उसके साथ सोने चल दिया।

रात के करीब 2 बजे उसका हाथ मेरे लंड पर था और मुझे छेड़ने लगी।

मैं नीद में सोने का नाटक करते हुए मैं चुप था।

कभी वो मेरी बांह में चुटकी काटती तो कभी मेरी कमर में।

अब मुझसे नहीं रहा गया। फिर मैंने पहली बार उसकी बांह में चुटकी काटी।

Indiansex stories > दोस्त की मकान मालिकिन आंटी की चुदाई

वो कुछ नहीं बोली। फिर मैंने उसके गाल पर चुटकी काटी। वो फिर भी कुछ नहीं बोली।

फिर मैंने हिम्मत करके उसकी समीज़ के ऊपर से ही उसके मम्मे पर चुटकी काटी, वो कुछ नहीं बोली तो मैं समझ गया कि आज ये लड़की देने के मूड में है।

फिर मैं उसकी समीज़ के ऊपर से ही उसके मम्मे दबाने लगा और चूमने लगा।

फिर मैंने उसकी होंठों की चुम्मी ली।

कम से कम 5 मिनट तक मैं उसके होंठों का चुम्बन करता रहा।

वो कुछ नहीं बोल रही थी, सिर्फ़ मुझे अपनी बाँहों में कसे हुए थी।

मैं उसके दोनों मम्मों को बारी-बारी से चूसता रहा, कभी मैं उसके होंठ को चूम लेता तो कभी मैं उसके मम्मों को चूसता।

Indiansex stories > पूल के टेबल पर चुदाई

एक हाथ से मैं उसके दूसरे मम्मे को दबा रहा था, तो दूसरे हाथ से मैं उसकी चूत में ऊँगली कर रहा था। उसकी चूत गीली हो चुकी थी।

उसने पैंटी भी नहीं पहन रखी थी तो मेरी ऊँगली आसानी से सलवार के ऊपर से ही उसकी चूत में जा रही थी।

अब उसे मजा आने लगा था, वो बहुत जोर से आवाज करने लगी थी- उन्नह्हह.. चूसो ज्जूऊऊओर से! वो जोर जोर से चिल्ला रही थी।

फिर मैंने उसके मम्मों को चूसना छोड़ कर उसके होंठ को अपने होंठों में लेना शुरु कर दिया।

उसकी तेज सिसकारियों से मुझे डर लग रहा था कि कहीं नीचे से मकान-मालिक न सुन ले।

मैंने दरवाजा बंद किया और फिर से उसके मम्मे दबाने शुरु कर दिए और चूसता भी रहा।

कुछ देर के बाद वो फिर से गर्म हो गई।

Indiansex stories > सेक्सी भाभी की गरम चूत

फिर मैंने अपना पैंट खोला और अपना लंड उसके हाथ में थमा दिया। मेरा लंड अब तन गया था।

मैंने अपना लंड उसके हाथों में पकड़ा दिया। वो पहले तो शरमाई।

लेकिन कुछ देर के बाद जब मैंने फिर से पकड़ाया तो उसने पकड़ लिया।

मैंने उससे बोला- इसे सहलाओ और आगे-पीछे करो। वो वैसा ही करने लगी।

मैंने फिर उसकी चूत में एक ऊँगली डाल दी, वो जोर-जोर से आवाज करने लगी, “आह्हह्ह..” वो मेरे लंड को जोर-जोर से आगे-पीछे करने लगी और मैं उसकी चूत में जोर-जोर से ऊँगली करने लगा।

कुछ ही पलों में वह जोर से चिल्लाने लगी।

फिर मैंने कुछ देर के बाद मैंने उसकी सलवार भी उतार दी।

Indiansex stories > मोनिका की कुंवारी चूत