livedosti.com

पड़ोसी की बेटी को चोदा

नमस्कार दोस्तौ, मेरा नाम सूरज है 23 साल का हूँ और में आगरा का रहने वाला हूँ। दोस्तों यह एक सच्ची घटना है जो मेरे साथ 2003 में घटित हुई थी। में उस समय वहां एक कम्पनी में नौकरी कर रहा था तो उस समय गौरी की माँ से मेरी जान पहचान हो गई..  में उन्हें दीदी बोलने लगा था और धीरे धीरे वो मुझे अपना छोटा भाई मानने लगी और में अक्सर छुट्टियों मे आता जाता रहता था और में जो कहानी सुनाने जा रहा हूँ वो गौरी और मेरे बीच की है। पड़ोसी को चोदा – sexy desi indian wife ki masti bhari chut chudai ki rasili kahani sirf antarvasnasexstories.org par.

गोरी की उम्र 17 या 18 साल थी और उसके फिगर का साईज 36-30-32 था और वो दिखने में भी बहुत सुंदर थी। जब कभी भी में उसके घर पर जाता तो हम एक दूसरे को गले मिलकर लव यू बोलते थे। उसे चॉकलेट खाना बहुत ज्यादा पसंद था इसलिये में हमेशा उसके लिए चॉकलेट लेकर जाता था। वो चोकलेट तभी लेती थी जब में चोकलेट अपने लिप्स में पकड़कर उसके लिप्स में देता था।

Indian Wife Masti ki Kahani > मुझपर सवार चुदाई का भूत

यह सिलसिला कुछ दिन तक ऐसे ही चलता रहा और फिर में जब भी उसके घर रुकता तो वो मुझे गुड नाईट कहकर अपने रूम में चली जाती थी। गौरी कभी कभी मेरे ऊपर सो जाती थी और अपनी सलबार को ऊपर कर लेती थी ताकि दोनों के शरीर टच हो और फिर हम लिप किस करते थे। हमारा यह सिलसिला कुछ दिनों तक जारी रहा फिर लिप किस करना बूब्स को दबाना, मसाज करना आम बात होने लगी। में उसके नरम मुलायम बूब्स को सन्तरा बोलता था।

एक बार जब में उसके यहाँ पर रात रुका तो उसकी माँ, गौरी और में हम तीनों ही थे और तब यह घटना घटी। उस रात को वो मेरे रूम में गुड नाईट बोलने के लिए आई तो मैंने उससे पूछा कि क्या कुछ करना है? तो वो बोली कि क्या करना है? मैंने कहा कि सेक्स, तो वो बोली ठीक है, लेकिन ऐसा करने से कोई समस्या तो नहीं होगी ना? फिर मैंने कहा कि नहीं कुछ नहीं होगा और अगर तुम्हे दर्द भी होगा तो मेरे पास उसका भी इलाज है और फिर वो सेक्स के लिए तैयार हो गई। फिर हमने लिप किस किया और में उसके बूब्स को दबाने लगा फिर हम एक दूसरे के होंठो को चूसने लगे और वो मना कर रही थी जो मुझे और भी ज्यादा गरम कर रहा था।

Indian Wife Masti ki Kahani > दीदी ने चूत चटवाई

फिर में उसके बूब्स को चूसने लगा तो उसने मुझसे कहा कि वाह मुझे बहुत मज़ा आ रहा है और फिर 10 मिनट चूसने के बाद हमने एक दूसरे के कपड़े उतारे। उसने पहले से ही अपनी चूत को और जिस्म के हर एक हिस्से के बालों को साफ किया हुआ था, शायद वो भी पहले से ही मेरे साथ सेक्स करना चाहती थी और मैंने देखा कि उसकी चूत बहुत मस्त थी। मैंने उससे कहा कि मेरे लंड को छुओ। फिर उसने मेरे लंड को छुआ तो मुझे ऐसा लग रहा था जैसे कि में जन्नत में पहुंच गया हूँ और थोड़ी ही देर बाद लंड को हिलाने के बाद मेरे कहने पर उसने मेरे लंड को किस किया और अपने मुहं में ले लिया। फिर वो 10 मिनट तक चूसती रही और जब वीर्य निकलने वाला था तो उसने वीर्य को नीचे गिरा दिया।

फिर में भी उसे खुश करने के लिय उसकी चूत को चाटने लगा, उसका स्वाद बहुत ही स्वादिष्ट था और वो एकदम पागल हुए जा रही थी। उसे यह इतना अच्छा लग रहा कि जब वो झड़ी तब थोड़ी देर आराम करने के बाद मैंने उससे कहा कि मुझे तुम्हे चोदना है। फिर वो बोली कि ठीक है चोद लो। मैंने उससे कहा कि आगे नहीं पीछे से तो पहले तो उसने बहुत मना किया और कहा कि मैंने इसके बारे में सुना नहीं है कि ऐसा भी होता है, लेकिन मेरे समझाने पर वो मान गई और उसने कहा कि पहले कंडोम लगा लो। फिर मैंने वेसा ही किया, मैंने कंडोम लगाया और उसे झुककर खड़े होने को कहा तो वो खड़ी हो गई।

Indian Wife Masti ki Kahani > रिसेप्शन वाली आंटी को चोदा

फिर में लंड को उसकी गांड पर धीरे धीरे दबाने लगा, लेकिन मेरा लंड अंदर नहीं जा रहा था और मुझे दर्द हो रहा था क्योंकि यह मेरा पहला टाईम था। फिर उसने मेरे लंड को पकड़ा और मैंने एक ज़ोर से धक्का मारा तो मेरा लंड 3 इंच अंदर चला गया और वो दर्द के कारण ज़ोर ज़ोर से रोने लगी और चीखने चिल्लाने लगी और कहने लगी कि प्लीज बाहर निकालो नहीं तो में मर जाऊँगी। फिर में लंड को बाहर निकालकर उसे किस करने लगा और जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो मैंने फिर से चोदना शुरू किया और इस बार भी उसे दर्द हुआ, लेकिन थोड़ा कम और उसकी चूत से खून निकल रहा था। फिर थोड़ी ही देर में उसे भी मज़ा आने लगा और वो अपनी गांड को उठा उठाकर मेरा साथ देने लगी और करीब 35 मिनट की चुदाई के बाद में झड़ने वाला था और वो दो बार झड़ चुकी थी।

उसके बाद हम दोनों ने थोड़ी देर बेड पर लेटकर आराम किया और वो मुझसे कहने लगी कि सूरज तुम बहुत अच्छे हो तुमने आज मुझे जन्नत में पहुंचा दिया और फिर वो सोने चली गई। फिर दूसरे दिन सुबह हमने फिर से किस किया और मैंने उसके बूब्स दबाए और फिर में उसके घर से चला गया क्योंकि मुझे ऑफिस जाना था। फिर उसके बाद जब में अगले दिन उसके घर पर गया तो वो दरवाजे पर ही किस करने लगी और उस रात हमने ज्यादा कुछ नहीं किया क्योंकि उसकी माँ सोई नहीं थी तो हमने लिप किस किया और मैंने थोड़ी देर उसके बूब्स चूसे और उसके बाद वो मुझे पिछले सप्ताह के लिए धन्यवाद बोली और सोने चली गई।

Indian Wife Masti ki Kahani > गुजरती भाभी की चुत चोदी

फिर अगले दिन फिर हमने किस किया और वो बोलने लगी कि प्लीज आज मुझे चोदना नहीं और आज उसकी आवाज़ इतनी सेक्सी थी कि मेरा मन कर रहा था कि उसके कपड़े फाड़कर उसे वहीं पर चोद दूँ, लेकिन उसकी मम्मी दूसरे रूम में थी। फिर हमने कुछ नहीं किया और दोस्तों जब भी में उसके घर पर जाता था तो वो ब्रा नहीं पहनती थी क्योंकि कभी भी मुझे मौका मिलने पर वो मुझे अपने बूब्स को सक करने देती थी।

फिर दिन भर तो किस और बूब्स को चूसने में निकल गया और जब रात हुई तो वो मेरे रूम में आई और बोली कि मम्मी सो गई है, आज रात मुझे चोदो ना प्लीज। फिर मैंने कहा कि आज में सामने से चोदूंगा तो वो मना करने लगी और कहने लगी कि जब मुझे तुम उंगली से चोदते हो तो मुझे उतना मज़ा नहीं आता जैसा पिछले रविबार को आया था, प्लीज एक बार फिर वैसे ही पीछे से चोदो ना। फिर मैंने कहा कि मेरी रानी मेरे लंड से एक बार आगे से चुदकर तो देखो अगर तुम्हे मज़ा नहीं आए तो बोलना। फिर हमने एक दूसरे के कपड़े उतारे, लिप किस, बूब्स सक किए हमे ऐसा करते हुए एक घंटा हो गया और फिर वो मेरे लंड को 10 मिनट तक चूसती रही और फिर थक गई और बोली कि प्लीज अब मुझे चोदो ना, में अब और इंतजार नहीं कर सकती, प्लीज जल्दी से चोदो ना मुझे।

Indian Wife Masti ki Kahani > नागपुर में भाभी की जबरदस्त चुदाई

दोस्तों मुझे उसका यह सब मुझसे कहना और अपनी चुदाई के लिए आमन्त्रित करने का अंदाज़ बहुत अच्छा लगा और आज भी मेरे कानों में उसकी वही आवाज़ आती है।

फिर में उसकी चूत को अपनी एक उंगली और जीभ से चोदने लगा और वो अपनी गांड को उठा उठाकर मेरा लंड अपनी चूत की गहराईयों में लेने की कोशिश करने लगी और में बहुत मज़े से उसकी चूत को चोदने लगा और कुछ देर के बाद वो बोली कि प्लीज अब मेरी इस प्यासी चूत के अंदर अपना लंड डालो ना, मुझे तुम्हारा लंड अपनी चूत के अंदर महसूस करना है और थोड़ी देर उसे परेशान करने के बाद जब वो झड़ गई तो फिर उसने कहा कि प्लीज चोदो ना मुझे और अब मुझसे उसकी सेक्सी आवाज़ सुनकर रहा नहीं गया और जैसे ही में लंड को उसकी चूत के पास लेकर गया तो वो बोली कि रूको पहले कंडोम लगा लो। फिर मैंने कंडोम लगाया और एक ज़ोर का धक्का मारा तो मेरा आधा लंड फिसलता हुआ अंदर चला गया और उसकी आँखों से आंसू बाहर आने लगे। फिर में एकदम से रुका और उससे पूछने लगा कि क्या हुआ? तो उसने कहा कि कुछ भी नहीं, प्लीज तुम तो मुझे लगातार चोदो। दोस्तों तो फिर क्या था? मैंने फिर से एक ज़ोरदार धक्का लगाया तो मेरा पूरा लंड अंदर चला गया और उसकी आँख से और भी तेज़ी से आँसू बाहर आने लगे।

Antarvasna Masti ki Kahani > बगलवाली मस्त आंटी

तो वो मुझसे बोलने लगी कि प्लीज रूको मत, चोदते रहो और फिर करीब एक मिनट चोदने के बाद में अचानक से रुक गया तो वो बोलने लगी कि क्या हुआ अब क्यों रुक गये? तो मैंने कहा कि तुम्हारी चूत से खून निकल रहा है और जब मैंने लंड को चूत से बाहर निकालकर देखा तो कंडोम पर भी खून लगा हुआ था फिर क्या था कंडोम को उसने निकालकर फेंक दिया और मुझसे कहा कि मुझे चोदो ना प्लीज बहुत मजा आ रहा है और फिर 30 मिनट तक लगातार बिना रुके चोदने के बाद में झड़ने वाला था और तब तक वो तीन बार झड़ चुकी थी। फिर उसने मुझसे कहा कि अपना वीर्य अंदर मत निकालना।

फिर वो लंड को चूत से बाहर निकालकर हाथ में लेकर ज़ोर ज़ोर से हिलाने लगी और मुझसे कहने लगी कि वाह मुझे बहुत मज़ा आया, हम ऐसा रोज़ नहीं कर सकते क्या? तो मैंने कहा कि मेरी रानी मुझे ऑफिस जाना होता है, अगर में यहाँ पर रहूँगा तो लेट हो जाऊंगा।

फिर हम सो गये कुछ महीनों बाद मेरा ट्रान्सफर दिल्ली हो गया लेकिन अभी भी हमारे बीच बातचीत होती रहती है ।

Indian Wife Masti ki Kahani > बगलवाली मस्त आंटी