livedosti.com cam chat

देसी आंटी की उसके घर चुदाई

मैं माल में शौपिंग के लिए गया था और शौपिंग करने के बाद बाहर निकलते हुए अचानक एक 35-40 साल की देसी आंटी मुझसे टकरा गई. मैं उनसे माफ़ी मांगी और उनके गिरे हुए सामान को उठाने में मदद करने लगा.उनके टाईट ब्लाउज से उनकी बड़ी-बड़ी चुंचियां बहार आने को छटपटा रही थी,वैसे तो उसने पल्लू ले रखा था पर उनकी साडी इतनी पतली थी की सब कुछ दिख रहा था. desixnxx

किसी को चोदे हुए बहुत दिन हो गया था मेरा लंड किसी को चोदने के लिए उतावला हो रहा था. सामान उठाने के बाद मैं कहा सोरी आंटी मेरी वजह से आपका सामन गिर गया,वो बोली कोई बात नहीं ऐसा होता रहता है. फिर देसी आंटी बोली पता नहीं आजकल के लड़कों को क्या हो गया है,जाने कहा खोये रहते हैं, मैंने झेपते हुए कहा ऐसी बात नहीं है आंटी.फिर वो बोली-मैं कोफ़ी पीने जा रही हूँ क्या तुम भी साथ में पीना चाहोगे मैंने सर हिलाते हुए कहा- क्यों नहीं आंटी.

Desixnxxड्रंक आंटी की चुदाई

फिर हमलोग पास के ही कोफ़ी शॉप में जाकर कोफ़ी पीने लगे. वहां बैठे लोगों को देखते हुए आंटी ने पूछा-बेटा क्या कर रहे हो आजकल,मैंने कहा कॉलेज में हूँ. फिर वो बोली तुम्हारा ध्यान कहा था क्या तुम भी टिनेज़र की तरह नयी लड़कियों को ताड रहे थे. उनका बात करने का तरीका काफी अलग था, मैंने कहा नहीं इस तरह की कोई बात नहीं है मुझे तो इंडियन आंटीस अच्छी लगती है.

फिर देसी आंटी ने मेरे घर के बारे में पूछा- मैंने बता दिया. देसी आंटी ने अपने बारे में बताया की उसकी एक जवान बेटी है और पति बाहर रहते हैं. अभी हमारी बात-चित चल ही रही थी की तेज़ बारिश होने लगी. काफी देर तक बारिश बंद नहीं हुई तो मैंने कहा आंटी मेरे घर चलिए यहीं पास में ही है तो वो बोली नहीं बेटा घर में बेटी है वो भी जवान और तुम तो जानते हो आजकल क्या-क्या हो जाता है.

Desixnxxगुजरती भाभी की चुत चोदी

मैंने कहा-ठीक है आंटी मैं अपने घर से गाडी लेकर आता हूँ और आपको पहुंचा दूंगा और घर जाकर गाडी ले आया आंटी भींगते हुए गाडी में आकर बैठ गई, मैं तो पहले ही काफी भींग चूका था.

थोड़ी ही देर में हमलोग देसी आंटी के घर पहुँच गए. पार्किंग में उनको छोड़ कर मैं जाने लगा तो वो उन्होंने मुझे रोक लिया बोली अभी बारिश रुकी नहीं है और तुम भींगे हुए हो, कपडे बदल लो नहीं तो तबियत बिगड़ जायेगी. मैं उनका कहा टाल नहीं सका और गाड़ी से उतर कर उनके साथ घर के अंदर चला गया.

देसी आंटी की साडी चिपक कर उनके बदन से चिपक गई थी जिसको देखकर मेरा लंड खडा हो रहा था मैं उनको गौर से देखता रहा.अंदर जाते ही एक मस्त जवान लड़की मिली उसने पूछा-ये कौन हैं ,तो आंटी ने मेरे बारे में बताया और बताया की वो उनकी बेटी है.

Desixnxxगीता भाभी ने चोदना सिखाया

उनकी बेटी उन्ही का इंतज़ार कर रही थी, उनसे मिल कर वो सोने चली गई. उसके जाते ही आंटी ने मुझे लुंगी दी और बोली कपडे बदल लो, मैं अपने कपडे खोल कर सूखने के लिए दे दिया और केवल लुंगी पहन कर बैठ गया. आंटी ने भी अपना कपडा बदल लिया था और एक पतली सी नायटी पहन ली थी अब मेरा मन तो इस सेक्सी मस्त आंटी को चोदने के लिए उतावला हो रहा था.

अगर ये देसी आंटी अपनी चिकनी चूत मेरे से अपनी चूत की चुदाई करवा ले तो कितना मज़ा आएगा. ये सोच-सोच कर मेरा लंड मुसल की तरह कड़क होता जा रहा था, मेरा लंड लुंगी के बिच से बाहर झांक रहा था जिसे आंटी बड़े ही गौर से देख रही थी मैंने अपनी टांगों को और फैला दिया जिससे देसी आंटी को मेरा पूरा लंड दिख जाए और मुझे चोदने का मौका मिल जाए. कोफ़ी पीने के बाद मैं कपडे पहनने लगा और सोच रहा था साली मुझे आज रोक ले और मेरे लंड से अपनी चिकनी चूत चुदवा ले, उसकी चूत भी तो चुदने के लिए मचल रही थी.

Desixnxxजीजा ने कहा चुत चुदवाओ

तभी वो मेरे नजदीक आई और कपडा छूते हुए बोली अभी कपडे सूखे नहीं है आज तुम यहीं रुक जाओ और घर पर फ़ोन कर दो.

रुकने का मन तो मेरा भी था मैंने घर पर काल करके बता दिया, आज नहीं आ पाउँगा, काफी बारिश हो रही है. फिर हम लोगों ने खाना खाया उसके बाद सोने की तैयारी होने लगी तो आंटी ने कहा तूम यही सोफे पर सो जाओ मैं बेड पर या तो तुम्हारा मन करे तो दुसरे रूम में भी सो सकते हो. मुझे अकेले सोने की आदत नहीं है आप यहीं बेड पर सो जाइए और मैं यहाँ पर सो जाऊंगा-मैंने सोफे की तरफ इशारा करते हुए कहा और वही सोफे पर सो गया.

मेरे दिल में देसी आंटी की चिकनी चूत चोदने और बड़ी गांड मारने का आरमान चकनाचूर होता लग रहा था, मैं उसकी बड़ी-बड़ी चुंचियां और उभरी हुई भारी गांड के बारे में सोचते-सोचते जाने कब सो गया. आंटी भी अपने बेड पर सो गई थी, अचानक रात को अपनी जांघ पर किसी का हाथ सड़कता हुआ महसूस हुआ मेरी नींद खुल चुकी थी मैं सोच रहा था ये हाथ या तो आंटी का है या उनकी बेटी का.

Desixnxxपार्क में मजे

मैने सोच लिया था कि जो भी हो आज उसकी चूत चोद कर ही छोडूंगा. मैं उस हाथ के सहलाने का मज़ा लेना चाहता था इसलिए मैं उसी तरह सोया रहा तब तक वो हाथ सहलाता हुआ मेरी लुंगी में घुसता हुआ ऊपर मेरी जांघों तक पहुंच गया था. मैं करवट बदल कर वहां पर सीधा होकर लेट गया और वो मुझे नींद में देख कर आराम से मेरी लुंगी के अंदर हाथ घुसा कर मेरा लंड पकड़ कर उसे बड़े प्यार से सहलाने लगी.

अब मेरा लंड धीरे-धीरे खड़ा हो रहा था, मैं मस्त होता जा रहा था मैं समझ चूका था की वो देसी आंटी है जो ये सब कर रही है. मन तो कर रहा था की साली को पकड़ कर अपने आप से चिपका लूँ और कस कर उसकी चिकनी चूत को चोद डालूं पर मैं अभी चुपके-चुपके और मज़ा लेना चाहता था. मैं नहीं चाहता था की मेरा देसी आंटी के चिकनी चूत को चोदने का सपना सपना ही रह जाए. आंटी निश्चिंत होकर मेरे लंड को सहला रही थी ,मेरा लंड मस्त होकर खड़ा हो गया था तभो वो अपने होठों से मेरे जांघ को चाटने लगी.

Desixnxxनाईटी खोल चाची को चोदा

मेरे मुंह से सिसकियाँ निकलने वाली थी पर मैंने उसे दबा दिया, मेरे लिए बर्दास्त करना काफी मुश्किल हो रहा था. तभी मेरे मुसल लंड पर कुछ चिपचिपा महसुस हुआ, आँख तो मेरी बंद थी मैंने सोचा जरुर साली अपनी जीभ से मेरे मुसल लंड को चाट रही है, लंड पर जीभ चलाते-चलाते उसने मेरे मुसल लंड को मुंह में ले लिया और चूसने लगी. मेरे बर्दास्त के बाहर हो गया था मैं उठ गया और बोल पड़ा कौन है. तभी आंटी ने लाइट जला दी और मेरे मुंह पर हाथ रखकर बोली -बेटा मैं हूँ.

आंटी पूरी नंगी थी,मैंने उन्हें देखते हुए कहा-आंटी आप तो पूरी की पूरी नंगी हो गई हो. उन्होंने मेरे खड़े लंड को अपने हाथों से सहलाते हुए कहा-बेटा नंगे तो तुम भी हो. मैंने सोचा अब साली मेरे मुसल लंड से चुदेगी जरुर पर इसको तडपाना चाहिए. फिर मैंने कहा-आंटी ये अच्छी बात नहीं है आपको ऐसा नहीं करना चाहिए. मुझे चूत को चोदना मत सिखाओ, बेटा,शाम को तो तुम मेरी चुन्चियों को खा जाने वाली नज़रों से देख रहे थे- देसी आंटी ने मेरे कड़े खड़े मुसल लंड को अपने हाथों से सहलाते हुए कहा.

Desixnxxगांववाली भाभी की चुत चुदाई

फिर देसी आंटी बोली- अभी तो तुम बच्चे हो, तुम्हारे जैसे न जाने कितने इस चूत में घुस गए हैं. ये सब सुनकर मुझे जोश आ गया और मैंने आंटी की बड़ी-बड़ी चुन्चियों को अपने हाथों से पकड़ कर मसलने लगा. देसी आंटी मेरा लंड मसलते हुए मेरे होठों को अपने मुंह में भर कर चूसने लगी. कुछ देर बाद उसने अपने निप्पल को मेरे मुंह में ठूस दिया और मेरे हाथ को पकड़ कर अपने छुट पर रख दिया ,मैं उनके निप्पल को चूसने लगा और कभी -कभी अपने दातों से काट भी लेता था, दांत लगते ही कराह उठती थी.

आंटी की चिकनी चूत काफी गीली हो गई थी मैं उसको रगड़ते-रगड़ते चूत में अपनी उँगलियाँ घुसा कर चोदने लगा. उसके चूत से बड़ी मादक सुगंध आ रही थी, मैं कुछ देर तक उनकी चूत सूंघता रहा और फिर उनकी चूत चाटने लगा, वो भी झुक के मेरे मुसल लंड को मुंह में भर कर चूस रही थी. काफी देर बाद वो उठी और मेरे खड़े मुसल लंड पर अपनी गीली चिकनी चूत रख कर बैठ गई.

Desixnxxक्लिनिक में मरीज़ ने चोदा

मेरा लंड सरसराता हुआ उनकी चूत में घुस गया, और देसी आंटी मेरे मुसल लंड पर उछलने लगी. मैं भी उनकी भारी गांड को पकड़कर नीचे से धक्का लगाने लगा. काफी देर बाद वो बोली मैं थक गई बेटा अब तुम उपर आकर मेरी चूत की चुदाई करो और उठ कर चित होकर लेट गई. मैं उठा और उनकी टांगों को फैला कर चौड़ा कर दिया अब मुझे उनकी चिकनी चूत की छेद नज़र आ रही थी. छेद पर अपना मुसल लंड लगा कर एक जोर का धक्का मारा और फिर चुदाई करने लगा.

वो अपनी गांड उठा उठा कर चुदाई का मज़ा ले रही थी, आंटी के मुंह से मादक सिसकियाँ निकल रही थी, वो बोले जा रही थी और जोर से चोदो बेटा, फाड़ दो अपनी आंटी की चूत. मैं तूफानी रफ़्तार से चुदाई कर रहा था. कुछ देर बाद उसने मुझे कास कर जकड लिया और झड़ने लगी, मैं भी कुछ देर और धक्का मार कर उसकी चूत में ही झड गया और निढाल होकर उसके उपर लेट गया. वो मेरे बालों में अपना हाथ डाल कर सहलाने लगी.

Desixnxx Indian sex storiesविधवा भाभी

कुछ देर बाद मेरा मुसल लंड सिकुड़ कर देसी आंटी के चूत से बाहर आ गया.