livedosti.com

चुदाई के बाद वीर्यदान

तभी बरखा ने कहा- अच्छा जी? तो आओ मेरे साथ अभी देख लेती हूँ कि कितना दम है तुम्हारे रॉकेट में।

और मेरा हाथ पकड़कर मनीषा के निजी बाथरूम में ले गई।

वहाँ जाकर बरखा ने मेरी पैंट खोलकर नीचे गिरा दी तभी मेरा लण्ड रॉकेट की तरह सीधा खड़ा हो गया।

उसने मुस्कुराते कहा- तुम्हारा रॉकेट बहुत बड़ा है, अब देखती हूँ कि कितनी देर टिकता है।

वो मेरे लण्ड को ज़ोर ज़ोर से हिलाने लगी और घुटनों के बल बैठकर मेरी लिंगमुंड को अपने मुँह में ले लिया।

धीरे धीरे उसने मेरा पूरा लण्ड उसके मुँह में ले लिया।

मैंने भी अपनी रफ़्तार पकड़ ली और उसके सर को पीछे से पकड़ के उसके मुख को चोदने लगा।

उसका मुँह लार से भर गया लेकिन मैं नहीं झड़ा।

करीब 15 मिनट हो चुके थे लेकिन मेरे रॉकेट ने हथियार नहीं डाले।

Desi Lund se Chudai > मोनिका की कुंवारी चूत

इतने में मनीषा भी बाथरूम में आ गई और कहने लगी- बरखा, क्या हुआ? अभी नहीं निकला क्या?

तो बरखा कहने लगी- नहीं, इसमें बहुत दम है, निकल ही नहीं रहा।

तो मैंने मनीषा को भी नीचे बिठाकर अपना लण्ड उसके मुँह में दे दिया।

वो बहुत तेजी से मेरे लण्ड को चूस रही थी।

5 मिनट बाद मैंने अपना लण्ड बाहर निकाला और बरखा की पजामी को उसकी पैंटी समेत नीचे खिसका दिया और दीवार की तरफ मुँह करके खड़ा कर दिया।

मैंने अपने पर्स से एक कंडोम निकाल कर मनीषा को दिया और उसने बिना देर किये मेरे लण्ड पे कंडोम चढ़ा दिया और कहा- मोहिनी ने बताया था कि जब तुमने उसे पहली बार चोदा था तो कंडोम फट गया था, तो आज फिर यह कारनामा करके दिखाओ।

मैंने अपना लण्ड बरखा की चूत के मुँह पे लगाकर कहा- कंडोम का तो पता नहीं लेकिन बरखा मैडम की चूत जरूर फ़ाड़ दूँगा।

Desi Lund se Chudai > देसी आंटी की उसके घर चुदाई

और एक ही झटके में अपना आधा लण्ड उसकी चूत में उतार दिया।

जिससे बरखा कराहते हुए बोली- आराम से करो, मैं कहीं भाग के थोड़ी जा रही हूँ।

मैंने धीरे धीरे अपना 6 इंच का लण्ड उसकी चूत में उतार दिया और अपनी रफ़्तार बढ़ा दी।

मैंने बरखा की कमर को कस के पकड़ा और धक्कों की बरसात कर दी।

जब बरखा खड़े खड़े थकने लगी तो मैंने बरखा को उसकी गांड से उठाकर अपनी गोद में बिठा लिया और खड़े होकर उसे चोदने लगा।

फिर मैं बाथरूम के कमोड पर बैठ गया और बरखा को अपने लण्ड पर बिठा कर चोदने लगा।

बरखा की सिसकारियों से मैं पूरे जोश में आ गया और पूरी रफ़्तार से उसे चोदने लगा।

करीब 15 मिनट के बाद मेरा लण्ड झड़ने के लिए तैयार हो गया।

Desi Lund se Chudai > पूरी रात बिस्तर में भाभी की चुदाई

बरखा तुरन्त मेरे ऊपर से हट गई और नीचे बैठकर मेरी मुट्ठ मारने लगी।

30-40 सेकंड के बाद मेरे लण्ड अपना सारा लावा उगल दिया और मनीषा ने सारा वीर्य डब्बी में भर लिया।

आधी डब्बी मेरे वीर्य से भर गई थी।

उसके बाद मनीषा वहाँ से चली गई और हमने अपनी अपनी पैंट पहनी और बाहर आकर बैठ गए।

तभी बरखा ने कहा- दीदी इस लड़के में वाकयी दम है, आज रात जमकर चुदाई करेंगे।

तो मनीषा ने कहा- वरुण तुम हमारे टैस्ट में पास हो गए, क्या आज रात तुम हमारे घर आ सकते हो?

मैंने जवाब में कहा- मैं जरूर आऊँगा, आप बस मेरा ख्याल रखना। कहीं आगे जाकर कोई मुश्किल न हो जाये।

‘तुम फ़िक्र न करो, हम जब भी किसी को वीर्य देते हैं, उनसे फॉर्म साइन कराते हैं ताकि भविष्य में कोई परेशानी न हो।’

मन की शांति होने के बाद मैं उनसे अलविदा लेते हुए वहाँ से निकल आया।

Desi Lund se Chudai > ट्रैन वाली मस्त आइटम की चोदा

उस रात मैंने वहाँ क्या क्या किया यह जानने के लिए थोड़ा इन्तजार कीजिये मैं जल्द ही अपनी अगली कहानी भेजूँगा।

तो दोस्तो, कहानी कैसे लगी, जरूर लिखना।