livedosti.com

चाची को चोद कर माँ बनाया-2

सबसे पहले सेक्सी लड़कियों और भाभियों को मेरा नमस्ते। मैं समीर हूँ.. गुजरात के जामनगर से हूँ.. मेरी उम्र 21 साल है। मैं दिखने में भी अच्छा हूँ। मैं अपनी पहली कहानी लिख रहा हूँ और यह बिल्कुल सच्ची है। यह कहानी बहुत पुरानी नहीं है। chachi ko choda

आशा करता हूँ के आपने इस कहानी का पहले भाग पढ़ा होगा.. अब आगे..

antarvasnasexstories.org par chachi ko choda and antarvasna free sex kahaniChachi ko Choda > चाची को चोद कर माँ बनाया

मैंने जाकर बोला- सॉरी चाची.. मुझसे गलती हो गई।

आप इतनी खूबसूरत हो कि मुझसे रहा नहीं गया आप मुझे बहुत अच्छी लगती हैं।

तो वो मुस्कुराते हुए बोलीं- क्या सुंदर है मुझमें? उनकी मुस्कुराहट देख कर.. मेरी जान में जान आ गई।

तो मैंने डरते-डरते कहा- मुझे आपकी फिगर बहुत अच्छी लगती है।

तो यह सुन कर वो थोड़ा और मुस्कुराने लगीं।

चाची- अच्छा.. तो तुमने कभी किसी के साथ सेक्स किया है क्या.. जो आज मुझे चोदना चाहते हो?

उनके मुँह से ‘चोदना’ शब्द सुन कर मैंने समझ लिया कि इसकी चूत चुनचुनाने लगी है।

Chachi ko Choda > क्लिनिक में मरीज़ ने चोदा

मैं- नहीं चाची।

तो उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर अपने मम्मों पर रख लिया और बोलीं- दबाओ इनको।

मैं जोश में आकर नाइटी के ऊपर से ही उनके मम्मे ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगा।

उनके मुँह से सिसकारियों की आवाज़ निकलने लगीं… मैं समझ गया कि अब इन्हें भी मज़ा आ रहा है।

फिर वो बोली- थोड़े प्यार से दबाओ।

फिर मैं आराम-आराम से उनके मम्मे दबाने लगा, वो भी मज़े लेने लगी।

मम्मे दबाते-दबाते मैंने उनकी नाइटी थोड़ी सी नीचे की ओर खींच दी.. जिससे उनके मम्मे मेरे हाथों से छूने लग गए।

Chachi ko Choda > पड़ोसन भाभी की बड़े लंड की चाहत

उन्होंने नीचे ब्रा नहीं पहनी थी।

फिर मैं नाइटी के अन्दर हाथ डालकर उनके मम्मे दबाने लगा।

अब उन्हें और मज़ा आ रहा था और वो ज़ोर-ज़ोर से आवाज़ निकालने लगीं, मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था।

फ़िर मैं उनको गोद में उठा कर कमरे में ले गया।

चाची को बिस्तर पर बिठा कर फ़िर से उनके बोबे दबाने लगा।

यह सब करते-करते मैं बिस्तर पर चढ़ गया था और उनके पीछे जाकर बैठ गया था।

अब मैं दोनों हाथों से उनके मम्मे दबा रहा था।

Chachi ko Choda > दोस्त की मकान मालिकिन आंटी की चुदाई

मेरा लण्ड अब तक बेकाबू हो रहा था और पूरा खड़ा हो गया था।

ऐसे बैठने से मेरा लण्ड उनकी गाण्ड पर रगड़ खा रहा था।

शायद उनको भी इसमें मज़ा आ रहा था, तभी उन्होंने कुछ नहीं बोला।

फिर मैंने एक हाथ से उनके मम्मे को दबाना चालू रखा और दूसरे हाथ को उनके पीछे ले आया और उनकी नाइटी के ऊपर से ही उनकी गाण्ड पर हाथ फेरने लगा।

लेकिन मुझे उतना मज़ा नहीं आ रहा था तो मैंने उनसे बोला- आप थोड़ा ऊपर उठो.. मुझे आपकी नाइटी निकालनी है।

उन्होंने बिना कुछ बोले अपने आप को थोड़ा ऊपर उठा लिया। अब उन्हें भी बहुत मज़ा आ रहा था।

मैंने उनकी नाइटी उठा कर उनकी कमर तक कर दी। अब उनकी गाण्ड मेरे सामने थी.. बस बीच में एक पैंटी थी।

Chachi ko Choda > सेक्सी भाभी की गरम चूत

खैर मैंने पैंटी के ऊपर से ही एक हाथ उनके अन्दर ले गया और उनकी नंगी गाण्ड का मज़ा लेने लगा और उनके चूतड़ों को सहलाने लगा।

फिर मैंने थोड़ा और हिम्मत करते हुए अपनी एक ऊँगली उनकी गाण्ड के छेद पर रख दी और धीरे-धीरे उनको सहलाने लगा और छेद को थोड़ा-थोड़ा दबाने लगा।

वो ज़ोर से सिसकारी लेने लगीं।

फिर मैंने उनको धीरे से लेटने के लिए बोला, वो बिना कोई विरोध किए आराम से लेट गईं।

मैंने आराम से उनकी नाइटी उतार दी.. अब उनका ऊपर वाला हिस्सा पूरा नंगा था.. बस नीचे एक पैंटी बची थी।

फिर मैं उनके बगल में लेट गया और उन्हें चूमने लगा।

वो भी मेरा साथ देने लगीं.. अब तक वो पूरी तरह से गर्म हो चुकी थीं।

Chachi ko Choda > मेरी बहन की कच्ची चूत