livedosti.com cam chat

चुदासी भाभी की जोरदार चुदाई

दोस्तो, आज मैं जो कहानी आपसे साझा करने जा रहा हूँ.. वो कहानी भी मेरी एक पाठिका चुदासी भाभी की है जो जयपुर से ही है, और उसकी मर्ज़ी से ही मैं यह कहानी आप लोगों के साथ साझा कर रहा हूँ। मुझे उम्मीद है कि आप लोगों को यह बहुत अच्छी लगेगी। bhabi ki chudai

मैं अमित जयपुर से हूँ। मेरी ऊँचाई 5’5” है और मैं एक औसत जिस्म वाला बंदा हूँ।

antarvasnasexstories.org par desi lund se bhabi ki chudai aur mast antarvasna sex kahani

मेरे लण्ड का नाप 6.5” है।

Bhabi ki chudai > लता की सिल तोड़ी

मैंने पहले एक कहानी लिखी थी, उसके बाद मेरे बाद खूब सारे मेल्स आए..

उनमें से एक ईमेल एक भाभी का आया जो जयपुर से थी।

मैंने उनको उत्तर दिया.. तो कुछ बात होने के बाद उन्होंने मुझे अपनी फ़ेसबुक आईडी दी और फिर हमने फेसबुक पर चैट चालू की।

अब चैट करते-करते एक दिन हम दोनों ने नम्बर भी साझा किए और फिर व्हाट्सएप पर भी बात हुई।

कुछ दिन बात हम ऐसे ही बात करते रहे। एक दिन उन्होंने बोला- मुझे आपसे मिलना है।

मैंने- ओके.. कब?

तो उन्होंने कहा- इसी हफ्ते को मेरे पति कुछ दिन के लिए बाहर जा रहे हैं और मैं उनके जाने के बाद तुमको फोन कर दूँगी।

Bhabi ki chudai > माँ की चुदाई का एहसास

मैंने- ठीक है।

तो हमारा मिलने कर प्रोग्राम बन गया। तीसरे दिन को उसका फोन आया..

उन्होंने मुझे एक जगह के बारे में बताया और मुझसे वहाँ आने को कहा।

मैं वहाँ पहुँच गया।

मेरे वहाँ पहुँचने के बाद उनका फिर से फोन आया और उन्होंने मुझसे पूछा- पहुँच गए?

मैंने बोला- हाँ.. मैं यहाँ आ गया हूँ।

तो कुछ देर बाद मेरे सामने एक कार आकर रुकी।

उसमें से एक मस्त माल उतरी। उसे देख कर मेरे तो होश उड़ गए।

Bhabi ki chudai > रुकसाना हिजड़ा का गधे जैसा लंड

मुझे उम्मीद ही नहीं थी कि यही वो आइटम है जो मुझसे मिलना चाहती है।

वो इतनी सुंदर थी कि मैं आपको क्या बताऊँ।

वो मुझे कहीं से भाभी लग ही नहीं रही थी.. उसने जीन्स और टॉप पहन रखा था।

उसके मम्मे कोई 34 साइज़ के होंगे, लेकिन क्या आग थी.. मैं तो बहुत ही ज़्यादा खुश था।

वो मेरे करीब आई।

हम दोनों ने एक-दूसरे को ‘हाय’ किया और वहीं नजदीक के एक गार्डन में जाकर बैठ गए।

मैं फाइव स्टार की चॉकलेट लाया था तो हम दोनों वही खाने लगे।

हमने कुछ देर वहाँ बैठ कर बातचीत की.. तो मैंने उससे पूछा- आपका घर किधर है?

Bhabi ki chudai > पार्लर में मज़े

‘यहीं पास में ही है..चलो चलते हैं।’

काफ़ी वक्त हो चुका था तो मैं उसके साथ उसकी गाड़ी में बैठ गया।

10 मिनट के बाद हम उसके घर पहुँच गए।

अन्दर जाने के बाद उसने मुझे बोला- तुम 10 मिनट इन्तजार करो.. प्लीज़।

वो दस मिनट के बाद कॉफ़ी लेकर आ गई।

हम लोग कॉफ़ी पीते-पीते बात कर रहे थे।

उसकी जवानी को देख कर मेरा लवड़ा खड़ा हो गया था और उसने यह देख लिया था।