livedosti.com

दो गर्लफ्रेंड की चुदाई एकसाथ

शबनम- अर्नव प्लीज़ मुझे चोदो, मुझसे और बर्दाश्त नहीं किया जा रहा।

मैंने एक एक करके उसके सारे कपड़े उतार दिए और वो अपने हाथों से अपनी चूचियों को छुपाने की नाकाम कोशिश कर रही थी।आज उसके मम्मे देख कर मेरा लौड़ा तन कर खड़ा हो गया और शबनम उसे देख रही थी। मैंने शबनम को कहा कि अब वो मेरे कपड़े उतारे, उसने झट से अपनी चूचियों को आजाद किया और मेरे कपड़े २ मिनट में ही उतार दी।। मैं उसकी चूचियों को दबाने लगा और उसकी चूत में एक ऊंगली को डाल दिया वो जोर से चिल्ला उठी मैंने झट से उसके होंठों को अपने मुंह में भर लिया और वो भी मेरा साथ देने लगी।

शबनम- अर्नव तुम्हारी एक ऊंगली से मेरा ये हाल है तो इतना बड़ा लन्ड मेरी चूत में कैसे जाएगा?

मैंने कहा कि वह सब मुझ पर छोड़ दे।

मैंने कहा कि अब वो मेरे लौड़े को अपने मुंह में लेकर चूस जैसे हीना ने किया था तो शबनम हीना को गाली देने लगी कि वो रंडी है तो पतली और छोटी लेकिन तेरे लौड़े को देख कर पागल हो गई थी। इतना कहकर वो नीचे बैठ गई और मेरे लौड़े पर हाथ फेरने लगी जिससे मेरे मन में चोदने की इच्छा और बढ़ गई।

मैंने झट से उसके बालों को पकड़कर उसका मुंह अपने लन्ड पर दबाने लगा। शबनम ने मेरा आधा लन्ड अपने मुंह में ले लिया और उसे चूसने लगी। दोस्तों मैं आपको बता दूं कि शबनम और हीना में हीना ज्यादा अच्छा लन्ड चूसती हैं। करीब ५ मिनट बाद मैंने शबनम को बेड पर लिटा दिया और उसकी चूचियों को दबाते हुए मैं सीधा उसकी चूत पर मुंह लगा दिया जो कि एकदम साफ थी, शबनम ने कहा कि आज रात को ही उसने क्लीन सेव किया था। मैंने जैसे ही उसकी चूत में अपनी जीभ को डाला वो तड़प उठी और बोली कि यह क्या कर रहे हो।

मैंने कहा कि शबनम रानी इससे तुम्हारी चूत और गीली हो जाएगी और तुम्हें मजा आयेगा। लेकिन सच तो यह था कि मुझे उसकी चूत चाटने में बहुत मजा‌ आ रहा था उसकी भीनी-भीनी खुशबू मुझे पागल कर रही थी। १० मिनट तक चाटने के बाद अचानक शबनम एकदम से अकड़ गई और अपने चूत का रस मेरे मुंह में भर दिया। मैंने वापस चाटना शुरू किया और अब वो फिर से अपनी चूत की गर्मी को महसूस करने लगी और बोली कि अब मुझे चोदो मुझे चोदो मुझे चोदो।

मैंने तुरंत उसका पैर फैला दिए और दोनों पैरों के बीच में बैठ गया, मेरा लन्ड अब उसकी चूत पर रगड़ रहा था जिससे उसकी कामवासना और तेज हो गई थी। उसने ही मेरा लन्ड अपनी चूत पर रख कर आगे पीछे करने लगी पर पूरा लन्ड नहीं ले पा रही थी फिर मैंने हल्का सा धक्का दिया और करीब आधे से भी कम मेरा लन्ड उसकी चूत में घुस गया और वो छटपटाने लगी जैसे कोई मछली को पानी से बाहर निकाल लें।

उसकी आंखों में पानी भर गया था और चुदायी के नशें से उसकी आंखें लाल हो गई थी। मैं कुछ देर तक वैसे ही उसके उपर पड़ा रहा फिर अचानक से ही एक और धक्का लगाया और मेरा पूरा लन्ड उसकी चूत में उतर गया अब वो जोर जोर से रोने लगी और बोली प्लीज़ निकाल लो मुझे नहीं करना है। वो गिड़गिड़ाने लगी कि मैं उसे छोड़ दूं, मैं भी एक नंबर का चोदू उसके उपर पड़ा रहा ५ मिनट बाद जब शबनम थोड़ा सा शांत हुई तब मैंने धीरे धीरे धक्का लगाना शुरू किया और अब वो मेरे धक्कों का जवाब देने लगी थी मैं समझ गया कि अब लोहा गरम है हथौड़ा मार दो।

मैंने ५, ६ जोरदार धक्का लगाया वो फिर रोने लगी और कहने लगी रंडीबाज ये मेरी चूत है मेरी बहन का भोसड़ा नहीं जो तू फाड़ रहा है। मैंने महसूस किया कि मेरा लन्ड चिपचिपा सा हो गया है मुझे लगा कि शबनम झड़ गई है। मैंने अपना लन्ड बाहर निकाल कर देखा तो पूरा बेडसीट लाल हो गया है, मुझे समझते देर ना लगी कि मैंने कच्ची कली को फूल बना दिया है। उसकी सील टूट गई है। शबनम खून देखकर हैरान रह गयी, बोली कि इतना खून कैसे, मैं उसे समझाया कि अब तुम लड़की नहीं रही औरत बन गई हो सील तुड़वा कर।

वो भी समझ गई कि अब उसकी चूत हमेशा लन्ड के लिए बेचैन रहेगी। मैंने अपना लन्ड वापस उसकी चूत में डाल दिया और चोदने लगा करीब ३० मिनट बाद मेरा निकलने वाला था तो मैंने उसे कहा कि कहा निकालू, उसने कहा कि मुझे भी हीना की तरह मेरे मुंह में चाहिए, ८,१० धक्कों के बाद मैंने अपना लन्ड शबनम के मुंह में डाल दिया और उसके मुंह को अपने माल से भर दिया, इस दौरान शबनम ३ बार झड़ चुकी थी।

मैंने उस दिन उस ३ बार चोदा वो एकदम थक गई थी और रात भी हो गई थी। यह दोनों एक साथ नहाने गए, शबनम चल भी नहीं पा रही थी मैंने उसे अपनी बाहों में भर लिया और उसके मम्मे चूसने लगा और शॉवर लेने लगे। फिर हम रेडी हो कर निकल आए। रास्ते भर शबनम बोलती रही कि मैं उसे छोड़ कर कहीं ना जाऊं। मैं जो भी बोलुंगा वो करेगी। मैंने उसे कहा कि कल आफिस है और हम जैसे रहते थे वैसे ही रहेंगे।

Sasur Bahu ki aur chudai > पडोसी लड़के का मुस्तैद लंड

इस दौरान शबनम को हीना का फोन आया और वो सारी बातें बताने लगी। जिसे सुनकर मेरा लन्ड फिर जोश में आ गया। मैंने शबनम को कहा कि मेरा लन्ड पकड़ कर रखे नहीं तो फिर चोदने लगुंगा। उसने वैसा ही किया और मेरे लौड़े को पकड़ कर बैठी हुई थी। १ घंटे बाद शबनम का घर आ गया था, और वो चली नहीं पा रही थी मैंने अपनी बाइक उसकी बिल्डिंग में घुसा दिया और वो कल मिलेंगे बोल कर एक किस दि और लिफ्ट से अपने फ्लैट में चली गई। मैंने भी गाड़ी घुमाया और घर आ गया। रात को शबनम से फोन पर बात की तो उसने बताया कि उसकी बड़ी बहन को शक हो गया है कि मैं चुदने गई थी।

आगे की कहानी अगले भाग में बताता हूं कि कैसे शबनम और हीना एक साथ चुदी।

कृपया अपनी टिप्पणियां अवश्य दें।

मुझे ई मेल द्वारा अपनी राय दें. ई मेल पर मैंने नाम अलग किया है। vipul.8169204123 [at] gmail.com