livedosti.com

दो गर्लफ्रेंड की चुदाई एकसाथ

हैलो दोस्तो मेरा नाम अर्नव (बदला हुआ) है और यह कहानी मेरी और मेरी दो आफिस कलीग की है। मेरी हाइट ५’६” है, गोरा रंग और लन्ड का साइज ६.५” और ३” मोटा है। दोस्तों मैं मुंबई में रहता हूं और एक मल्टी नेशनल कंपनी में काम करता था। वहां पर आफ रोल में की सारी लड़कियां काम करतीं थीं और उनमें से एक है शबनम और दूसरी है हीना।

पहले शबनम के बारे में जान लें, उसकी हाइट ५’१” है और साइज ३४/३०/३२ है रंग गेहुंआ है, गजब की माल है, आफिस में जब वो चलती थी तो उसकी चूचियां ऊपर-नीचे होने पर सब उसके नाम से हिलाते होंगे।

दूसरी तरफ हीना जिसकी हाइट ५ फीट है मम्मे का साइज ३२ और गांड़ का आकार ३० है। दूध सी गोरी है।

शबनम और हीना दोनों बहुत अच्छी दोस्त हैं और हमारी ही टीम में थी। जनवरी २०१९ का महीना था और हमारा टारगेट पूरा होने पर मैनेजर ने मूवी देखने का प्लान बनाया और टीम के सब लोग तय हुए स्थान पर मिले। मूवी देखने के बाद सब आपस में रिव्यू देने लगे अचानक मुझे लगा कि मेरा हाथ शबनम की चूचियों को छू रहा है मैं देर ना करते हुए तुरंत अपना हाथ हटा लिया ये बात शबनम भी समझ गई और मुझसे दूर जाकर खड़ी हो गई।

क्या फील था उसकी चूचियों का मैं बता नहीं सकता। चूचियां बड़ी-बड़ी थी पर कड़क थी ऐसा लगा जैसे अभी तक किसी ने चूसा नहीं है। आखिर में रात को ना चाहते हुए भी मैंने उसे एक साॅरी का मैसेज भेज दिया और उसके रिप्लाई का इंतजार करने लगा, इन सब में मैं कब सो गया पता ही नहीं चला। अगली सुबह रविवार थी तो उठने में देर हो गई। बिस्तर में लेटे हुए ही मैं फोन चेक करने लगा और देखा कि शबनम का रिप्लाई आया था “it’s ok”। मैं वापस उसे एक मैसेज भेज दिया क्या कर रही हो? वो बोली अभी उठी हूं।

मैं- क्या हम मिल सकते हैं आज?

शबनम- क्यूं आज क्या है?

मैं- मिलकर मूवी जाते हैं।

शबनम- बस हम दोनों ही?

मैं- हीना को भी साथ लेलो।

शबनम- मैं हीना से पूछ कर बताती हूं एक घंटे में।

अब मैं फटाफट नहा धो कर तैयार हो गया और उसके रिप्लाई का इंतजार करने लगा।

एक घंटे बाद मेरे मोबाइल पर मैसेज आया कि २ बजे आइनोक्स थिएटर के बाहर मिलना मैंने घड़ी देखी तो उस समय १२:१५ बज रहे थे। जिस थिएटर में मिलने वाले हैं वो मेरे घर से १५ मिनट कि दूरी पर स्थित है। मैंने आनलाइन ही ३ तिकट बुक कर दिया। २ बजने में १० मिनट बाकी था और मैं पहुंच गया अब इन दोनों का इंतजार करने लगा ५ मिनट बाद ही मैंने देखा कि हीना आ रही है।

हीना- कैसे हो अर्नव?

मैं- ठीक हूं तुम कैसी हो?

हीना- मैं भी अच्छी हूं, लगता है रात भर नींद नहीं आई तुम्हें?

मैं- मैं सोचा कि कहीं शबनम ने इसे बता तो नहीं दिया। फिर मैंने उससे कहा मैं तो मजे से सोया तुम सोई थी कि नहीं?

हीना- मैं तो नहीं हो पाई रात भर।

बातों बातों में शबनम कब आ गई पता ही नहीं चला।

शबनम- तुम लोगों कि बात खत्म हो गई हो तो मूवी देखने चलें।

हीना- हमारी बात खत्म ही नहीं होगी, चलो बाकी मूवी में कर लेंगे।

मैं- मुझे पक्का यकीन हो गया था कि शबनम ने हीना को बता दिया है।

हम मूवी में गए तो पहले मैं बैठा फिर शबनम और फिर हीना।

मूवी शुरू हो गई रोमांटिक सीन चल रहा था, मैंने मौका देख कर शबनम को प्रोपोज किया और ये बात हीना ने भी सुन ली और बोली कि एक को ही प्रोपोज करोगे क्या?

यह सुनकर मैं चौंक गया और शबनम को देखने लगा।

शबनम- चौंको मत, हमने दोनों यह तय किया था कि हमें जो भी पसंद आयेगा और हमें प्रोपोज करेगा उसे हम दोनों को अपना बनाना पड़ेगा।

यह सुनकर मैं अपने आपे से बाहर निकलने लगा था। ऐसा लग रहा था कि मानों मैं इस दुनिया में सबसे ज्यादा खुशनसीब इंसान हूं, लगे हांथ मैंने हीना को भी प्रोपोज कर दिया। दोनों ने एक साथ “वी लव यू टू” बोली जिसे सुनकर मैं खुश हुआ था रहा था।